पांच निवेश विकल्प जिसमे लगाया पैसा, तो मिलेगा एफडी से जायदा मुनाफा

 

बैंक एफडी में कम रिटर्न होने से अधिकांश निवेशक कहीं और अपना पैसा लगाना चाहते हैं। बैंक एफडी की ब्याज दरों को 2004-05 में जैसे देखा गया था वह इससे काफी अलग हो गई हैं। SBI बैंक विभिन्न टेन्योर में 2.9% और 5.4% के बीच ब्याज दर दे रहा है। मौजूदा समय में बैंक एफडी ब्याज दरें बचत बैंक खाते के बराबर हैं। वास्तव में छोटी अवधि के लिए, बैंक एफडी बैंक बचत खाते की तुलना में कम ब्याज देते हैं। इसके लिए अगर आप दूसरे निवेश योजना में पैसा लगाकर मोटा मुनाफा कमाना चाहते हैं तो कुछ निवेश विकल्पों के बारे में जानिए। 

डाकघर राष्ट्रीय बचत मासिक आय खाता (POMIS): POMIS पांच साल का निवेश है, जिसमें सिंगल के तौर पर 4.5 लाख रुपये और संयुक्त स्वामित्व के तहत 9 लाख रुपये तक निवेश किया जा सकता है। 10 वर्ष से अधिक आयु का नाबालिग अभिभावक के माध्यम से भी खाता खोल सकता है। POMIS 6.6% की मासिक दर से ब्याज देता है। 

सेविंग बॉन्ड्स: RBI सेविंग बॉन्ड की मैच्योरिटी अवधि सात साल है। भारत सरकार ने 1 जुलाई से फ्लोटिंग रेट सेविंग बॉन्ड जारी करने की अनुमति दी है। 1 जुलाई से 31 दिसंबर की अवधि के लिए ब्याज दर 7.15% है, जो अगले साल 1 जनवरी को देय होगी। RBI फ्लोटिंग रेट सेविंग बॉन्ड पर ब्याज दर हर छह महीने में रीसेट हो जाएगी। आरबीआई फ़्लोटिंग रेट सेविंग बॉन्ड पर ब्याज पूरी तरह से कर योग्य है और समय-समय पर बॉन्ड पर ब्याज का भुगतान करते समय कर में कटौती की जाएगी।

5-वर्षीय राष्ट्रीय बचत पत्र (NSC): डाकघर बचत योजना एनएससी अपने निश्चित आय पोर्टफोलियो लिए निवेशकों के बीच लोकप्रिय है। ये प्रमाणपत्र उन लोगों के लिए सुरक्षित और उपयोगी है जो पूंजी की सुरक्षा चाहते हैं। एनएससी मौजूदा समय में 6.8% सालाना की ब्याज दर दे रहा है, लेकिन यह मैच्योरिटी पर देय है। 10 वर्ष से अधिक आयु के नाबालिग NSC खरीदे सकते हैं। 

वरिष्ठ नागरिक बचत योजना (SCSS): 60 वर्ष या उससे अधिक आयु का व्यक्ति SCSS में निवेश कर सकता है। मौजूदा समय में, SCSS प्रति वर्ष 7.4% की दर से ब्याज का भुगतान करता है। जमाकर्ता व्यक्तिगत क्षमता में या जीवनसाथी के साथ एक से अधिक खाते संचालित कर सकते हैं। इसक मैच्योरिटी अवधि 5 वर्ष है। मैच्योरिटी के बाद, खाते को आगे तीन साल के लिए बढ़ाया जा सकता है। 

 

बैंक FD: कुछ छोटे वित्त बैंक (SFB) चुनिंदा FD पर 8% से 9% के बीच ब्याज देते हैं। सामान्य ग्राहकों की तुलना में वरिष्ठ नागरिकों को इन जमाओं पर 50 आधार अंक अधिक मिलते हैं। भारतीय स्टेट बैंक (SBI), HDFC बैंक, ICICI बैंक, एक्सिस बैंक और अन्य कर्जदाता की तुलना में इन बैंकों द्वारा दी जाने वाली ब्याज दरें निश्चित रूप से आकर्षक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *